Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
अक्सर जब हम अपनी कोई स्वास्थ्य समस्या लेकर डॉक्टर के पास पहुंचते हैं तो वे ट्रीटमेंट की दवा के साथ कुछ विटमिन और मिनरल की गोलियां या टॉनिक भी अपने प्रिस्क्रिप्शन में लिख देते हैं और हम भी बिना जान समझे उसका सेवन करना शुरू कर देते हैं, पर अगली बार जब आपके डॉक्टर ऐसी सप्लीमेंट्री गोलियां लिखें तो उनसे एक बार सवाल जरूर कीजिएगा कि क्या वास्तव में ऐसी दवाएं सेहत के लिए जरूरी है। क्योंकि अगर आप ऐसी दवाओं का सेवन ये सोचकर करते हैं कि उनसे आपको ताकत मिलेगी और आपकी सेहत बदल जाएगी, तो ये आपकी भूल है।
दरअसल हाल ही में हुए एक स्वास्थ्य सम्बंधी शोध से ये खुलासा हुया है कि वास्तव में में विटमिन और मिनरल्स की सप्लीमेंट्री गोलियों से सेहत पर कोई खास फर्क नहीं पड़ता। कनाडा के सेंट माइकल अस्पताल और टोरंटो विश्वविद्यालय द्वारा किए गए सामूहिक शोध मे ये सामने आया है कि सप्लीमेंट्री डायट के तौर पर मल्टीविटमिन्स और कैल्शियम की गोलियां सबसे अधिक ली जाती हैं, पर सच ये है कि इनसे सेहत को कोई फायदा नहीं होता।
इस हेल्थ रिसर्च के प्रमुख शोधकर्ता डेविड जेनकिन्स ने जर्नल ऑफ द अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियॉलजी में प्रकाशित एक रिपोर्ट में ये कहा है कि , ‘शोध के परिणाम में हम ये देखकर आश्चर्यचकित रहे हैं, कि सप्लिमेंट्स का बहुत ही कम सकारात्मक प्रभाव पड़ता हैं, वैसे इस अध्ययन में ये भी पाया गया है कि अगर आप ऐसी सप्लीमेंट्री गोलियां लेते हैं तो इससे किसी तरह का नुकसान तो नहीं है, पर वास्तव मे ये किसी भी तरह फायदेमंद भी नहीं है।’
ऐसे में अब सवाल ये उठता है कि आखिर फिर डॉक्टर्स ऐसी दवाएं क्यों लिखते हैं । दरअसल बात ये कि आम मेडिकल प्रेक्टिशनर ही आमतौर पर ऐसा करते हैं, वे सामान्य स्वास्थ्य समस्याएं जैसे खून की कमी, भूख न लगना, कमजोरी महसूस होना, शरीर का विकास न होना, जैसी शारीरिक स्थितियों में मरीजो को ऐसी सप्लीमेंट्री की दवाएं लिख देते हैं। पर वास्तव में एक कुशल चिकित्सक सबसे पहले जांच के जरिए पेशेंट की मूल बीमारी का पता करता है और उसके आधार पर ही दवा लिखता है ।
वहीं लोगों की भी ये धारणा बन चुकी है सप्लीमेंट्री गोलियों से तुरंत लाभ मिल जाता है और इसी कारण कुछ लोग खुद से भी ऐसी दवाओं का सेवन करने लगते हैं। जबकि आपको ये पता होना चाहिए कि ऐसी दवाएं सेवन के बाद 90 प्रतिशत से अधिक बिना पाचन किए शरीर से बाहर निकल जाती है, ऐसे में देखा जाए तो इनके सेवन करने से कोई फायदा नही होता ।
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.