Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
कहते हैं आप असल में कामयाब तब होते हैं जब आपके नाम से आपके पिता को जाना जाया, ना कि आप आपको अपनी पहचान बनाने के लिए पिता या पारिवारिक विरासत का सहारा लेना पड़ा। फिल्म इंडस्ट्री में भी ऐसे कई सितारे हैं, जिन्होने कुछ इसी तरह अपनी खुद की पहचान बनाई है.. इनमें से एक हैं एकता कपूर। जी हां, एकता वैसे तो जानेमाने बॉलीवुड एक्टर जितेंद्र की बेटी हैं, पर आज इंडस्ट्री में उनकी अपनी पहचान है.. दुनिया उन्हें टीवी क्वीन के नाम से जानती हैं।
बालाजी टेलीफिल्म्स की क्रिएटिव हेड और डायरेक्टर, एकता कपूर आज अपने बनाए टीवी सीरीयल्स के जरिए घर-घर में जानी-पहचानी जाती हैं, वहीं बॉलीवुड में भी उन्होनें कई सारी सफल फिल्मों का निर्माण किया है। हाल ही में रिलीज हुई उनकी फिल्म ‘वीरे दे वेडिंग’ ने भी सफलता के नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं। वैसे एकता के इस सफलता के पीछे उनकी मेहनत और प्रतिभा के साथ एक और चीज काम करती है, वो है उनकी भगवान और ज्योतिष में आस्था। जी हां, एकता ज्योतिष में काफी विश्वास रखती हैं और अपने प्रोफेशन से लेकर पर्सनल लाइफ में ज्योतिष के उपायों का सहारा लेती हैं।एकता की ये आस्था की ही बानगी है कि वे अपने माथे पर हर गुरुवार टीका लगाना नहीं भूलतीं।
आखिर क्यों ‘क’ से शुरू होते हैं, एकता के सीरीयल्स और फिल्मों के नाम
अब चाहें उनके फिल्मों और सीरियल्स के नाम को ही ले लीजिए.. सीरीयल्स से लेकर एकता के फिल्मों के नाम ‘क’ अक्षर से शुरू होते हैं। क्योंकि सांस भी कभी बहू थी, कहानी घर घर की, कसौटी जिंदगी की, काव्यंजलि, कभी सौतन कभी सहेली, कहीं तो होगा, किस देश में है मेरा दिल, कसम से, कुसुम, कुटुंब, कितनी मोहब्बत है.. ये सारे नाम के से शुरू हुए हैं। वहीं जब एकता 2001 में फिल्मों के प्रोडक्शन में आई तो यहां भी फिल्म ‘क्योंकि मैं झूठ नहीं बोलता’ से कदम रखा और इसके बाद 2003 और 2004 में ‘कुछ तो है’ और ‘कृष्णा कॉटेज’ में काम किया। दरअसल एकता ‘क’ अक्षर को अपने लिए बेहद लकी मानती हैं।
सीरीयल्स और फिल्मों के लिए स्पेशल मुहूर्त
एकता अपनी सीरीयल्स और फिल्मों के लिए भी स्पेशल मुहूर्त निकलावती है.. यहां तक कि वे अपने पर्सनल एस्ट्रोलॉजर के सलाह बिना अपना एक कदम भी आगे नहीं बढ़ाती। जैसे कि एकता कपूर के फेमस टीवी शो ‘बड़े अच्छे’ लगते हैं की लांचिंग के समय ये खबर आई थी कि सिर्फ एकता के कहने पर ही सोनी टीवी ने इस शो की लांचिंग मुंबई के बजाय आगरा में रखी थी, क्योंकि एकता का मानना था कि ये शो खासतौर से प्यार पर आधारित है, इसलिए इसकी लांचिंग पूनम की चांदनी रात में आगरा के ताजमहल के पास होटल ताज खेमा में रखी गई थी .. और इससे भी खास बात ये रही कि खुद एकता सोनी टीवी के अधिकारियों के साथ लांचिंग में आनेवाली थी, पर जैसे ही वो निकलने वाली थी, तभी उनके ज्योतिष ने बताया कि आज का दिन उनकी यात्रा करने के लिए सही नहीं है..इसलिए वे सफर न करें। ऐसे में एकता ने पर्सनल एस्ट्रोलॉजर की सलाह मानकर अपनी आगरा की ट्रिप कैंसल कर दी और लाचिंग में अपनी जगह अपने पापा जीतेंद्र को भेज दिया था । ये खबर उस वक्त फिल्मी गलियारों में खूब चली थी।
'वीरे दी वेडिंग' की सफलता के लिए 8 साल बाद रखी स्क्रीनिंग
'वीरे दी वेडिंग' की पर्सनल स्क्रीनिंग रखने के पीछे भी एकता का एक खास मकसद था। दरअसल आमतौर पर एकता अपनी फिल्मों की स्क्रीनिंग नहीं रखती हैं। 'वीरे दी वेडिंग' से पहले एकता ने 8 साल पहले 'द डर्टी पिक्चर' की स्क्रीनिंग रखी थी जो कि सुपर हिट साबित हुई थी। ऐसे में जब एकता को ‘द डर्टी पिक्चर’ की सक्सेस याद आई तो वे उसकी तरह ही 'वीरे दी वेडिंग' की स्क्रीनिंग रखने से खुद को रोक ना सकी। एकता ने खुद इसकी जानकारी खुद ट्वीट कर दी थी।
ये है एकता की ब्लैक प्लेटफॉर्म हील का राज
वहीं एकता पर्सनल लाइफ के लिए भी अपने पर्सनल एस्ट्रोलॉजर की सलाह लेती हैं.. उनकी हर गतिविधि, यहां तक कि उनका पहनावा भी ज्योतिष के उपायों से प्रेरित रहता है। जैसे कि आप अगर गौर करें तो पाएंगे कि एकता अक्सर ब्लैक प्लेटफॉर्म हील पहनी नजर आती है, दरअसल इसके पीछे की वजह भी ज्योतिष है। एक इंटरव्यू में एकता ने खुद बताया था कि वे अपने ज्योतिषी के कहे अनुसार ही प्लेटफॉर्म हील पहनती है।
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.