Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
स्टेशन हर जगह होते हैं कुछ व्यस्त होते हैं कुछ नहीं, लेकिन आज जो स्टेशन हम आपको दिखने वाले हैं वह पहले कि तुलना में वैसे नहीं रहे। यह दिखने में जितने सुन्दर थे आज अगर इनकी दुर्दशा देख लेंगे तो यकीन नहीं करेंगे । दुनिया भर के कई देशों से ली गयी यह तसवीरें साफ़ बयाँ करती है कि अगर किसी पब्लिक प्लेस को वक़्त रहते संभाला न जाये तो क्या हश्र हो सकता इन जगहों का। इन स्टेशन के साथ क्या हुआ और क्या थे यह यहाँ संक्षिप्त में आपको देखने मिलेगा।
ट्रिपोली ट्रेन स्टेशन, लेबनानयह ट्रेन स्टेशन 1911 में शुरू हुआ था, जो लेबनीज सिटी को होम्स, सीरिया से जोड़ता था। पहल विश्व युद्ध के चलते इसके ट्रैक और स्टेशन को नुक्सान पंहुचा और बाद में 1975 में लेबनीज सिविल वार के वक़्त इसे भुला दिया गया। लेक्लिन आज भी जंग और युद्ध के निशाँ वाला इंजन वहां खड़ा है।
मिशिगन ट्रेन स्टेशन, डेट्रॉइट, यू. एसदुनिया का सबसे लम्बा ट्रेन स्टेशन कहलाये जाने वाला स्टेशन आज किस हाल में है आप देख सकते हैं। यह एक 18–स्टोरी बिल्डिंग हैं जिसकी छत की ऊंचाई 230 फीट यानि (70 मीटर्स) है। सन 1913 में इसका उद्घाटन हुआ था और आज कि तारीख में इसके रेनोवेट होने कि खबरें तेज़ी में हैं और काम भी बहुत जोरों से चल रहा है। अब आगे इसे या तो कन्वेंशन सेंटर के तौर पर बनाया जायेगा वरना इसे पुलिस मुख्यालय में तब्दील किया जायेगा ।
कान्फ्रंक इंटरनेशनल रेलवे स्टेशन, स्पेन‘पहाड़ों का टाइटैनिक’ कहे जाने वाले इस स्टेशन की शुरुआत 1928 में हुई थी। 1970 में डीरैल्मेंट होने के बाद यह स्टेशन बंद कर दिया गया था। इस स्टेशन की बिल्डिंग में 365 खिड़कियाँ हैं। साथ ही 156 गेट्स, प्लेटफॉर्म्स जो 220 यार्ड्स (200 मीटर्स) लम्बे हैं, और 790 फीट (240) लम्बा मैमथ स्ट्रक्चर है।
बुफल्लो सेंट्रल टर्मिनल, न्यू यॉर्क, यू एस.1929 में शुरू होने के बाद यह प्रति दिन 200 से ऊपर ट्रेन्स और 10,000 यात्री को हैंडल कर सकते थे. उसी के साथ 1500 कर्मचारी भी यहाँ काम करते थे । मैमथ स्ट्रक्चर होने के साथ इसमें कई तरह कि दुकानें, सोडा फाउंटेन, और पार्किंग गेराज था । पहले विश्व युद्ध के बाद रेल यात्रा पर असर पड़ा, उस वक़्त लोग अपने वाहनों से तथा हवाई यात्रा करने में ज्यादा सावधानी का काम समझा । 1979 में इस स्टेशन को भुला दिया गया । लेकिन आज भी थोड़ी मरम्मत होने के बाद यहाँ कई इवेंट्स होते हैं।
ओल्ड हेलेंस्बर्घ स्टेशन, ऑस्ट्रेलियाऑस्ट्रेलिया के शहर न्यू साउथ वेल्स में स्थित यह एक टनल नुमा स्टेशन है। जो 1889 में शुरू हुआ था और 1915 में बंद हो गया। क्यूंकि यह टनल छोटी थी, जब ट्रेन चलती थी और उसके इंजन से धुआं उठता तो यात्रि और कर्मचारी का धुएं से दम घुटने लगता। 1960 और 70 में इस का उपयोग मुश्रूम की खेती के लिए होने लगा। उसके बाद इसमें बहुत से जुगनूंओं ने पनाह ले ली और यह जगह ‘ग्लो वर्म टनल’ के नाम से मशहूर हो गयी।
16th स्ट्रीट स्टेशन, ओकलैंड, कैलिफ़ोर्निया, यू एसहर्विस हंट के द्वारा डिज़ाइंड इस स्टेशन का उद्घाटन 1912 में हुआ था. सन 1989 में भूकंप आने और इसी के समक्ष नया स्टेशन बनने की तर्ज़ पर इसे 1994 में बंद कर दिया गया. एक लोकल डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत इसे रिस्टोर किया जा रहा है, और साल 2015 में इसमें ‘लूलू’ नाकम ओपेरा को प्रस्तुत भी किया गया.
YOUR REACTION
  • 1
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 1

Add you Response

  • Please add your comment.